education

10 engineering colleges in the country above IITs, admission by JEE Main score – Rojgar Samachar

भारत में 4 हजार से ज्यादा इंजीनियरिंग कॉलेज हैं। इन कॉलेजों में प्रवेश जेईई प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। जेईई मेन रिजल्ट के बाद भारत के कई इंजीनियरिंग कॉलेजों में इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

जेईई मेन परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवार सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग कॉलेज प्राप्त करना चाहते हैं। इन बेहतरीन कॉलेजों में प्रवेश जेईई मेन स्कोर के आधार पर होता है। भारत को हमेशा इंजीनियरिंग के क्षेत्र में दुनिया के शीर्ष देशों में माना जाता है। यहां के ज्यादातर छात्र 12वीं के बाद इंजीनियर बनना चाहते हैं। भारत में ऐसे कई हैं इंजीनियरिंग कॉलेज दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कॉलेजों की सूची में नाम। हम आपको ऐसे ही टॉप 10 IIT कॉलेजों के बारे में बताने जा रहे हैं। इन कॉलेजों को भारत सरकार द्वारा घोषित एनआईआरएफ रैंकिंग में शीर्ष सूची में शामिल किया गया है।

विश्वविद्यालय का नाम – एनआईआरएफ स्कोर – कुल मिलाकर एनआईआरएफ रैंक

कॉलेज का नाम अंक पद
जाधवपुर विश्वविद्यालय, कोलकाता, पश्चिम बंगाल 65.68 1 1
वेल्लोर प्रौद्योगिकी संस्थान, वेल्लोर, तमिलनाडु 61.41 17
रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई, महाराष्ट्र 61.40 18
अमृता विश्व विद्यापीठ, कोयंबटूर, तमिलनाडु 60.92 19
एसआरएम विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान, चेन्नई, तमिलनाडु 58.02 24
एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा, उत्तर प्रदेश 57.73 25
जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली 57.51 – 26
शिक्षा ‘ओ’ अनुसंधान, भुवनेश्वर, ओडिशा 57.48 27
थापर इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पटियाला, पंजाब 57.18 28

भारत में 4 हजार से ज्यादा इंजीनियरिंग कॉलेज हैं। इन कॉलेजों में प्रवेश जेईई प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। जेईई मेन रिजल्ट के बाद भारत के कई इंजीनियरिंग कॉलेजों में इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। आगे की पढ़ाई के लिए 12वीं के बाद छात्रों द्वारा इंजीनियरिंग कोर्स को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। इंजीनियरिंग के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए छात्रों के लिए इस क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं।

इसे भी पढ़ें

कैरियर के विकल्प

हर साल लाखों छात्र जेईई मेन परीक्षा में शामिल होते हैं। जेईई मेन के बाद, जेईई एडवांस परीक्षा के लिए अधिक उन्नत दिखाई देते हैं। परीक्षा में रैंक के अनुसार कॉलेज आवंटित किए जाते हैं। इंजीनियरिंग में छात्रों के लिए करियर के कई विकल्प उपलब्ध हैं। कोई मैकेनिकल, सिविल, इलेक्ट्रिकल और सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकता है। सरकार से लेकर निजी क्षेत्र तक में कई संभावनाएं हैं। जेईई मेन सेशन 2 का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है। इसके बाद छात्र अपने भविष्य की ओर पहला कदम बढ़ाएंगे। इसके बाद काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी। एनटीए टॉपर लिस्ट भी जारी करेगा। यहां पढ़ें करियर की खबरें।

Back to top button

Adblock Detected

Ad Blocker Detect please deactivate ad blocker