e-sport

AIFF intend to host a four-nation football tournament for indian Football Team in Gujarat

एआईएफएफ ने गुजरात में भारतीय फुटबॉल टीम के लिए चार देशों की सीनियर पुरुष फुटबॉल टीम टूर्नामेंट की मेजबानी करने की योजना बनाई है।

भावनगर में फादर पलाऊ इंटर-स्कूल बॉयज फुटबॉल टूर्नामेंट के 12वें संस्करण के समापन पर, अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) के अध्यक्ष कल्याण चौबे ने गुजरात में चार देशों के फुटबॉल टूर्नामेंट की मेजबानी करने के संगठन के इरादे का खुलासा किया। यह घोषणा तब हुई जब चौबे ने खेलों के लिए देश के शीर्ष 5 राज्यों में से एक के रूप में गुजरात की वर्तमान स्थिति को स्वीकार किया।

एआईएफएफ ने हाल ही में राष्ट्रीय फुटबॉल चैंपियनशिप की मेजबानी के लिए गुजरात को चुना है, अब वह भारतीय फुटबॉल टीम के लिए राज्य में प्रतिष्ठित चार देशों की सीनियर पुरुष फुटबॉल टीम टूर्नामेंट की मेजबानी करने की योजना बना रहा है।

1964 एएफसी एशियन कप में भारत के ऐतिहासिक प्रदर्शन को देखते हुए

इगोर स्टिमैक एएफसी एशियन कप 2023 में सीमित संसाधनों के ‘फोकस और सर्वोत्तम उपयोग’ के लिए आशान्वित हैं

अर्जेंटीना के खिलाड़ी लियोनेल मेसी को अंतिम सम्मान देते हुए 10वें नंबर पर सेवानिवृत्त होंगे

चौबे ने खेल संगठनों में नेतृत्व की भूमिकाओं में पूर्व-एथलीटों की सक्रिय भागीदारी पर भी अपने विचार व्यक्त किए। जमीनी स्तर की प्रतिभा की पहचान करने की उनकी अद्वितीय क्षमता पर जोर देते हुए, उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे ये व्यक्ति खेल पारिस्थितिकी तंत्र पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

हालांकि इसके लिए कोई विशेष आदेश नहीं है, लेकिन चौबे ने इस बात पर जोर दिया कि पूर्व खिलाड़ियों के नेतृत्व में खेल और प्रशासन का संयोजन खेल को प्रभावी ढंग से बढ़ावा दे सकता है।

जमीनी स्तर के विकास पर अपने प्रतिबद्ध फोकस के हिस्से के रूप में, एआईएफएफ ने गुजरात राज्य फुटबॉल एसोसिएशन के सचिव मूलराजसिंह चुडास्मा को राष्ट्रव्यापी जमीनी स्तर के विकास परियोजना का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी सौंपी है। विशेष रूप से, फेडरेशन ने चुडास्मा को फुटबॉल फॉर स्कूल्स ब्लू शावक पहल का अध्यक्ष नियुक्त किया है।

इस पहल का देश भर के 1.53 स्कूलों के 2.61 करोड़ एथलीटों तक पहुंचने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य है। अपने समर्पण के प्रमाण के रूप में, एआईएफएफ ने 11.15 लाख फुटबॉल दान करके इस पहल में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इन रणनीतिक प्रयासों का उद्देश्य युवा प्रतिभाओं को बढ़ावा देना और जमीनी स्तर पर एक मजबूत फुटबॉल संस्कृति को बढ़ावा देना है, जिससे भारतीय फुटबॉल के भविष्य के लिए एक ठोस नींव तैयार की जा सके।


Back to top button

Adblock Detected

Ad Blocker Detect please deactivate ad blocker