entertainment

Fahadh Faasil Birthday When Malyali Industry Criticized Him On Flop Debut Left Films For 7 Years – फहाद फासिल, ‘पुष्‍पा’ का भंवर सिंह जो कपड़े उतर जाने के बाद भी चमका, कभी लगा था FLOP का ठप्‍पा | Entertainment News

भंवर सिंह याद है की ‘पुष्पा: द राइज़’ याद है? जिन लोगों ने यह फिल्म देखी है उन्हें आईपीएस भंवर सिंह अच्छी तरह याद होंगे। इस किरदार को अभिनेता फहद फासिल ने निभाया था। फहद फासिल ने ‘पुष्पा’ के आखिरी 15 मिनट में सारी सुर्खियां बटोर लीं। फहद फासिल लगभग दो दशकों से मलयालम फिल्म उद्योग का हिस्सा हैं। उनके पिता फाजिल एक प्रसिद्ध निर्देशक हैं। इसके बावजूद फहद फासिल को इंडस्ट्री में जगह बनाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। एक समय ऐसा भी आया जब उन्होंने बोरियत के चलते फिल्में छोड़ दीं और सात साल तक एक्टिंग से दूर रहे। फहद फासिल का जन्मदिन 8 अगस्त को होता है। जानिए कैसे फहद ने सपोर्टिंग रोल निभाकर इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाई।

स्टार बनी सहायक भूमिका, जीता राष्ट्रीय पुरस्कार
फहद फासिल भले ही ज्यादातर फिल्मों में सपोर्टिंग रोल में नजर आए हों, लेकिन उन्होंने अपने दमदार अभिनय से सभी को अपनी सीट से बांधे रखा। ‘सी यू सून’, ‘जोजी’, ‘कुंंबली नाइट्स’ और ‘बैंगलोर डेज’ जैसी फिल्मों के लिए पहचाने जाने वाले फहद फासिल ने अपनी सहायक भूमिका के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी जीता है। उन्होंने इस फिल्म को यह अवॉर्ड दिया है
थोंडीमुथलम द्रक्षक्षीयम में उनकी भूमिका के लिए जीता।

‘पुष्पा’ में फहद फासिल, फोटो: इंस्टाग्राम

थ्रोबैक गुरुवार: शर्मिला टैगोर को पसंद नहीं आई मुमताज को फूटी आंख? कहा जाता है कि हीरोइनें कभी दोस्त नहीं हो सकतीं
फ्लॉप डेब्यू के बाद मलयाली इंडस्ट्री से रिजेक्ट, 7 साल के लिए छोड़ी फिल्में
फहद फ़ासिल ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत 2002 में अपने पिता फ़ासिल द्वारा निर्देशित फ़िल्म कैयथुम दूरथ से की थी। फिल्म बुरी तरह फ्लॉप हो गई। फहद फासिल का करियर शुरू होने से पहले ही खत्म होता दिख रहा था। इसके लिए उनके पिता को जिम्मेदार ठहराया गया था। लोगों ने फहद फासिल को चिढ़ाना शुरू कर दिया कि वह एक फिल्म निर्माता के बेटे के रूप में सफल नहीं हो सकते। ऐसी आलोचनाओं के बीच फहद फासिल ने अपने पिता का बचाव किया। उन्होंने कहा कि उनकी विफलता के लिए पिता को जिम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए। यह उसकी अपनी गलती थी क्योंकि वह बिना तैयारी के फिल्म में आया था।

फहद फासिल अभिनेता

फहद फासिल, फोटो: इंस्टा/फहदफैसिल_यूनिवर्स

Bollywood vs South : साउथ ने बहाया बॉलीवुड का तेल, कहां चूका खेल, आंकड़ों से समझें
फहद फासिल ने 2009 में इस भूमिका के साथ स्टारडम में वापसी की
एक असफल शुरुआत के बाद, फहद फासिल ने फिल्में छोड़ दी और शिक्षा के लिए विदेश चले गए। इसके बाद उन्होंने 2009 में फिल्म ‘केरल कैफे’ से वापसी की। फहद फासिल को धीरे-धीरे पहचान मिलने लगी। उन्हें ‘कॉकटेल’ और ‘टूर्नामेंट’ जैसी थ्रिलर फिल्मों में देखा गया था। फिल्म चप्पा कुरेश में एक रियल एस्टेट व्यवसायी के रूप में फहद फासिल की भूमिका ने उन्हें फिर से सुर्खियों में ला दिया। हर तरफ इसकी चर्चा हो रही थी। इस तरह उनके करियर में तेजी आने लगी।

विक्रम में फहद फासिल

फिल्म ‘विक्रम’ से फहद फासिल, फोटो: इंस्टाग्राम

पढ़ना: अल्लू अर्जुन की ‘पुष्पा द रूल’ में उनका लुक हुआ वायरल, फैंस बोले- इस बार डबल फायर

‘पुष्पा’ और ‘विक्रम’ में फहद फासिल को सराहा गया था।
फहद फ़ासिल ने किरदारों के साथ-साथ शैली के साथ भी प्रयोग करना शुरू किया। फहद फासिल ने कई फिल्मों में नकारात्मक भूमिकाएं भी निभाई हैं। 22 फीमेल कोट्टायम में नेगेटिव रोल में फहद फासिल को खूब पसंद किया गया था। 2018 में, फहद फ़ासिल को सफलता मिलने लगी। उस वर्ष उन्होंने वरथन, ज्ञान प्रकाशन और कुंभलंगी नाइट्स जैसी लगातार हिट फिल्में दीं। फहद फासिल को हाल ही में कमल हासन की ‘विक्रम’ में देखा गया था, जिसे खूब सराहा गया था।

‘पुष्पा’ में देखें फहद फ़ासिल:

सबसे अधिक भुगतान पाने वाले अभिनेताओं में अपनी पहचान बनाएं
फहद फासिल आज मलयालम फिल्म उद्योग में उन अभिनेताओं में से एक बन गए हैं, जिन्हें सहायक भूमिकाओं में बदलना मुश्किल लगता है। वह भले ही एक फिल्म निर्माता के बेटे हों, लेकिन उन्होंने अपनी मेहनत और आत्मनिर्भरता से अपनी पहचान बनाई। फहद फासिल का आज एक मजबूत सितारा मूल्य है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, वह एक फिल्म के लिए 3.5 से 6 करोड़ रुपये चार्ज करते हैं। आज उनकी गिनती मलयालम फिल्म उद्योग में सबसे अधिक भुगतान पाने वाले अभिनेताओं में की जाती है।

Back to top button

Adblock Detected

Ad Blocker Detect please deactivate ad blocker