entertainment

Raju Srivastava Death: राजू श्रीवास्‍तव का निधन, 42 दिनों से जिंदगी की जंग लड़ रहे थे सबके चहेते ‘गजोधर भैया’ – TV News in Hindi

देश के सबसे प्रसिद्ध और लोकप्रिय कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का निधन हो गया है। 42 दिनों तक दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती रहने के बाद 21 सितंबर को राजू श्रीवास्तव ने अंतिम सांस ली। 10 अगस्त की सुबह ट्रेडमिल पर दौड़ते समय उन्हें दिल का दौरा पड़ा। तब से वह एम्स में वेंटिलेटर पर जिंदगी और मौत से जूझ रहे थे। राजू पहले दिन से ही बेहोश था। उसका शरीर प्रतिक्रिया नहीं दे रहा था। हालांकि दो दिन बाद उनकी हालत में कुछ सुधार हुआ, लेकिन बाद में डॉक्टर ने परिवार को जवाब दिया।

डॉक्टरों ने राजू श्रीवास्तव को पुनर्जीवित करने की बहुत कोशिश की, लेकिन उनके मस्तिष्क तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच रही थी। वह लगातार बेहोश रहता था। कोमा जैसी स्थिति थी। राजू श्रीवास्तव के दिल ने भी काम करना बंद कर दिया। इंडस्ट्री के तमाम लोग और करोड़ों फैन्स लगातार राजू श्रीवास्तव की सेहत के लिए दुआ कर रहे थे, लेकिन दुख की बात है कि सबकी हंसी गजोधर भैया के आंसू छलक पड़े.

ब्रेन डेड घोषित, दिमाग तक नहीं पहुंच रही ऑक्सीजन
राजू श्रीवास्तव को डॉक्टरों ने ब्रेन डेड घोषित कर दिया था और उनका दिल ठीक से काम नहीं कर रहा था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजू श्रीवास्तव के सिर के ऊपरी हिस्से में ऑक्सीजन भी नहीं पहुंच रही थी. राजू श्रीवास्तव को वेंटिलेटर पर रखा गया था क्योंकि उनका शरीर काम कर रहा था। उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट भी दिया गया। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। डॉक्टरों ने राजू श्रीवास्तव के परिवार को जवाब दिया।

राजू को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया

दिल का दौरा पड़ने के बाद 10 अगस्त को जब उन्हें एम्स लाया गया तो राजू श्रीवास्तव गंभीर हालत में थे और बेहोश थे। कहा जाता है कि सीपीआर की मदद से उसे होश में लाया गया। इसके बाद राजू श्रीवास्तव की एंजियोप्लास्टी हुई और उनकी धमनियों में 2 स्टेंट भी लगाए गए। हालांकि उसके बाद भी राजू की हालत में सुधार नहीं होने से वह बेहोश हो गया। इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर ले जाया गया।

एंजियोप्लास्टी में नहीं हुआ सुधार
इससे पहले राजू की बेटी ने भी अपने पिता के स्वास्थ्य के बारे में कहा था कि उनके पिता के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं है। वेंटिलेटर पर रहते हुए राजू का शरीर दवा और इलाज पर प्रतिक्रिया नहीं दे रहा था। इसके बाद राजू के चचेरे भाई अशोक श्रीवास्तव ने नवभारत टाइम्स को बताया कि राजू श्रीवास्तव की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है. उन्होंने कहा था, ‘डॉक्टरों ने अपना काम कर दिया है। उनकी एंजियोप्लास्टी हुई है। उनका इलाज चल रहा है।’ हाल ही में राजू श्रीवास्तव के बिजनेस मैनेजर ने एएनआई को बताया था कि कॉमेडियन का शरीर हिल रहा है। उनकी हालत में सुधार हो रहा है, लेकिन वे अभी भी आईसीयू में वेंटिलेटर पर हैं।

उन्होंने फिल्मों में भी काम किया
राजू श्रीवास्तव के करियर की बात करें तो कानपुर में जन्मे कॉमेडियन अपनी कॉमेडी के लिए पूरी दुनिया में मशहूर हैं। राजू ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत सलमान खान की फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ से की थी। इसके बाद उन्होंने ‘बाजीगर’, ‘आमदनी इतनी सरकठियां’, ‘वह तेरा क्या कहना’, ‘मैं प्रेम की दीवानी हूं’, ‘बॉम्बे टू गोवा’ और ‘टॉयलेट प्रेम’ जैसी फिल्मों में काम किया।

टीवी ने दी असली पहचान
राजू को असली पहचान कॉमेडी रियलिटी शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ से मिली। इस शो में राजू ने गजोधर का काल्पनिक किरदार निभाकर दर्शकों का मनोरंजन किया। इस टीवी सीरीज के अलावा राजू ने मशहूर टीवी सीरीज ‘देक भाई देख’, ‘शक्तिमान’ और ‘अदालत’ में भी अहम भूमिकाएं निभाई हैं।

Back to top button

Adblock Detected

Ad Blocker Detect please deactivate ad blocker